ऑनलाइन गेम बनाना

ऑनलाइन गेम बनाना

time:2021-10-25 03:37:08 सैलरी के इन कंपोनेंट को समझ लें तो टैक्‍स बचत में होगी आसानी Views:4591

स्लॉट अनुस्मारक ऑनलाइन गेम बनाना 10cric असली है या नकली,casumo बिंगो,लेवेगास काम नहीं कर रहा है,lovebet बेटिंग एपीके डाउनलोड,lovebet एमएक्स,lovebet xổ số,संचायक 7 लवबेट,बैकारेट झुमके,बैकरेट तकनीक,बेटिंग गुरुजी टेलीग्राम लिंक,कैसीनो 9 अवतार,कैसीनो कार्ड गेम नियम,क्लासिक रम्मी आईओएस,क्रिकेट आईसीसी लाइव,जैकबॉक्स गेम मुफ्त डाउनलोड करें,यूरोपीय फुटबॉल लीग,फुटबॉल मास्टर्स पूर्वानुमान,इस महीने उत्पत्ति कैसीनो जैकपॉट्स,फुटबॉल कैसे जीत सकता है,आईपीएल ग्रुप लिंक,जैकपॉट परिणाम,लाइव लाठी नीदरलैंड,लाइव रूले विलियम हिल,लॉटरी वर्जीनिया,ना लवबेट,ऑनलाइन कैसीनो साइट चीन,दोस्तों के साथ ऑनलाइन पोकर मुक्त,पैरिमैच डिपॉजिट बोनस,पोकर चेहरा लेडी गागा,रम्मी कैश गेम,नियम और कानून अर्थ,जुआरी रम्मी,बिक्री के लिए स्लॉट मशीन,खेल 0.1 लाइव,स्पोर्ट्सबुक फैंडुएल ऐप,टेक्सास होल्डम हैंड्स,आज का यूरोपीय कप,एक बैकारेट परिवर्तन आदेश क्या है,एक्स फुटबॉल लीग 2020,इलेक्ट्रॉनिक खेल swimming,कैसीनो क्या होता है,गोवा ऐतिहासिक,झारखंड cricket,फुटबॉल या विषयी माहिती,बेटा पैदा करने के उपाय,लॉटरी गली,स्पोर्ट्स वाच .सैलरी के इन कंपोनेंट को समझ लें तो टैक्‍स बचत में होगी आसानी

सैलरी स्‍ट्रक्‍चर में कई कंपोनेंट होते हैं. इनके बारे में समझ लेना अच्‍छा है. इनका इस्‍तेमाल टैक्‍स का बोझ घटाने में किया जा सकता है.
नई दिल्‍ली : सैलरी स्‍ट्रक्‍चर में कई कंपोनेंट होते हैं. इनके बारे में समझ लेना अच्‍छा है. इनका इस्‍तेमाल टैक्‍स का बोझ घटाने में किया जा सकता है. आइए, यहां उनमें से कुछ के बारे में जानते हैं.

हाउस रेंट अलाउंस
यह कॉस्‍ट टू कंपनी यानी सीटीसी का सबसे सामान्‍य कंपोनेंट है. किराये के मकान में रहने वाले लोग एचआरए पर एग्‍जेम्‍पशन क्‍लेम कर सकते हैं. फिर बाकी का हिस्‍सा टैक्‍सेबल रह जाता है.

आपके सीटीसी में अगर एचआरए नहीं है तो रेंट के पेमेंट के लिए डिडक्‍शन ग्रॉस टैक्‍सेबल इनकम में उपलब्‍ध होता है. यह कई सीमाओं के अधीन है. आप अगर अपने घर में रहते हैं तो एचआरए कंपोनेंट पूरी तरह टैक्‍स के दायरे में आता है.

इसे भी पढ़ें : क्‍या शेयर बेचने के एक हफ्ते के अंदर उन्‍हें फिर खरीदने पर टैक्‍स लगेगा?

वर्क फ्रॉम होम एक्‍सपेंस
अगर आप फुलटाइम घर से काम कर रहे हैं और आपकी कंपनी टेलीफोन, इंटरनेट, प्रिंटिंग और स्‍टेशनरी जैसे कुछ खर्चों को रीइंबर्स कर रही है तो आपको इन खर्चों पर टैक्‍स देने की जरूरत नहीं है. कॉरपोरेट पॉलिसी के अनुसार, आपको इन रीइंबर्समेंट क्‍लेम करने के लिए कंपनी को जरूरी बिल देने होंगे.

लीव ट्रैवल कंसेशन (एलटीसी)
एलटीसी एग्‍जेम्‍पशन चार साल के ब्‍लॉक में दो बार देश में यात्रा करने पर उपलब्‍ध है. नया ब्‍लॉक 1 जनवरी, 2018 को शुरू हुआ था. बंदिशें लागू हैं. उदाहरण के लिए अगर आप हवाई जहाज से यात्रा कर रहे हैं तो यह इकनॉमी क्‍लास के किराये तक सीमित है. यह सबसे छोटे रूट पर लागू होता है. होटल और स्‍थानीय किराये के खर्च पर कोई छूट उपलब्‍ध नहीं है.

लीव इनकैशमेंट
अगर आप उपलब्‍ध अवकाश नहीं ले पाए हैं तो उन्‍हें भुना लेने का विकल्‍प है. आपकी कंपनी सिर्फ रिटायरमेंट या रेजिग्‍नेशन पर इसकी अनुमति दे सकती है. अधिकतम 3 लाख रुपये का लीव इनकैशमेंट लिया जा सकता है.

इसे भी पढ़ें : ईपीएफ के ब्याज पर टैक्‍स के दायरे से बाहर रहेगा पीपीएफ

लीव कैश वाउचर स्‍कीम
सरकार ने एलटीसी/एलटीए कैश वाउचर स्‍कीम शुरू की है. इसमें कर्मचारियों को एलटीसी/एलटीए के बदले कुछ खास तरह की खरीदारी पर छूट क्‍लेम करने की सहूलियत दी गई है. ऐसा इसलिए किया गया है क्योंकि कोरोना की महामारी के कारण कर्मचारी यात्रा करने में असमर्थ हैं. केंद्र सरकार ने 12 अक्टूबर को एलटीसी कैश वाउचर स्कीम का एलान किया था. इस घोषणा के मुताबिक केंद्र सरकार के कोई भी कर्मचारी 31 मार्च 2021 तक 12 फीसदी और उससे ज्यादा जीएसटी वाले सर्विस या गुड्स को खरीद कर इस स्कीम का फायदा उठा सकते हैं.

कर्मचारी भविष्‍य निधि (ईपीएफ)
पांच साल या इसके बाद तक लगातार सर्विस करने पर पीएफ से निकासी टैक्‍स फ्री है. हालांकि, नौकरी खत्‍म होने के बाद पीएफ अकाउंट बैलेंस में जमा रकम पर ब्‍याज टैक्‍स के दायरे में आता है. अगर 1 अप्रैल 2021 को या इसके बाद कर्मचारी का कॉन्ट्रिब्‍यूशन पीएफ में किसी साल में 2.5 लाख रुपये से ज्‍यादा होगा तो अतिरिक्‍त रकम के ब्‍याज पर टैक्‍स लगेगा.

ग्रेच्‍युटी
पांच साल लगातार नौकरी करने पर कोई कर्मचारी पेमेंट ऑफ ग्रेच्‍युटी एक्‍ट के तहत ग्रेच्‍युटी पाने का हकदार हो जाता है. इस पर 20 लाख रुपये तक छूट मिलती है.

पैसे कमाने, बचाने और बढ़ाने के साथ निवेश के मौकों के बारे में जानकारी पाने के लिए हमारे फेसबुक पेज पर जाएं. फेसबुक पेज पर जाने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें

टॉपिक

सैलरी के कंपोनेंटवर्क फ्रॉम होमटैक्‍स बचतसैलरी स्‍ट्रक्‍चरकैश वाउचर स्‍कीमएलटीसी

ETPrime stories of the day

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.
Modern retail

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.

2 mins read
Why Rivigo, which hired from all sectors, is zeroing in on seasoned logistics hands for its revival
Recent hit

Why Rivigo, which hired from all sectors, is zeroing in on seasoned logistics hands for its revival

11 mins read
Realty boom, capex cycle, Unitech’s fall: what pro-cyclical investors can learn from the past
Investing

Realty boom, capex cycle, Unitech’s fall: what pro-cyclical investors can learn from the past

14 mins read

2020 के पहले छह महीनों में केपजेमिनी ने 9,500 लोगों की भर्ती की है. सेकेंड हाफ में उसकी 13,500 लोगों को रिक्रूट करने की योजना है.एनालिटिक्‍स संबंधी जॉब्‍स निकालने वाली कंपन‍ियों में एक्‍सेंचर, एमफेसिस, कग्निजेंट टेक्‍नोलॉजी सॉल्‍यूशन, केपजेमिनी, इंफोसिस, टेक महिंद्रा, आईबीएम इंडिया, डेल, एचसीएल टेक्‍नोलॉजी और कोलेबरा टेक्‍नोलॉजी प्रमुख हैं.एसबीआई इस साल 14,000 लोगों की भर्ती करेगा

कोरोना वायरस महामारी के चलते लागू किए गए लॉकडाउन के कारण विभिन्न क्षेत्रों में छंटनी, वेतन में कटौती या कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोतरी रुक गई है. हालांकि, कई बड़े निजी क्षेत्र के बैंकों ने कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोतरी की है.रिपोर्ट में कहा गया है कि अनलॉक उपायों के बाद आवाजाही में सुधार से रियल एस्टेट क्षेत्र में नियुक्ति गतिविधियां 44 फीसदी सुधरी हैं.सैलरी के इन कंपोनेंट को समझ लें तो टैक्‍स बचत में होगी आसानी

सैलरी कब अपने स्‍तर पर लौटेंगी, यह आर्थिक गतिविधियों के बहाल होने पर निर्भर करेगा. डेलॉयट के सर्वे में शामिल 75 फीसदी संस्‍थानों ने मौजूदा अनिश्चितता को देखते हुए वेतनवृद्धि में किसी तरह के अनुमान जाहिर करने से इंकार कर दिया.डिजिटल इकनॉमी में नए टैलेंट की जरूरत होगी. आइए, यहां टॉप रिक्रूटमेंट फर्मों से उन स्किल्‍स के बारे में जानते हैं जो सबसे ज्‍यादा डिमांड में हैं.यूपी : 31,000 टीचरों की भर्ती की प्रक्रिया शुरू

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
रम्मी सर्कल मोबाइल गेम

एओन की बुधवार को जारी सर्वे रिपोर्ट में कहा गया है कि देश में काम करने वाली कंपनियों ने कोविड-19 से जुड़ी चुनौतियों के बावजूद लचीलारुख दिखाया है.

फुटबॉल मैदान का माप

कोरोना वायरस महामारी के चलते लागू किए गए लॉकडाउन के कारण विभिन्न क्षेत्रों में छंटनी, वेतन में कटौती या कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोतरी रुक गई है. हालांकि, कई बड़े निजी क्षेत्र के बैंकों ने कर्मचारियों के वेतन में बढ़ोतरी की है.

स्पोर्ट्स बाइक की कीमत

रेलवे बोर्ड के चेयरमैन वीके यादव ने बताया कि कोविड-19 महामारी के कारण अब तक परीक्षा आयोजित नहीं कराई जा सकी थी.

लाइव मिनी गेम्स

पेटीएम के सीएचआरओ रोहित ठाकुर ने ईटी को बताया कि पिछले तीन से चार महीनों में कंपनी ने करीब 700 लोगों की भर्ती की है. इन्‍हें ऑनलाइन रिक्रूट किया गया है.

लाइव ब्लैकजैक फ्री प्ले

आपको अपनी स्किल्‍स का पैसा मिलता है. इस बात का पता करें कि आप जैसी स्किल रखने वाले लोगों को बाहर कितनी सैलरी मिल रही है.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी