क्रिकेट 5 लाइनें

Publishing time:2021-10-25 03:08:24

शीर्ष १० यूरोपीय फ़ुटबॉल क्रिकेट 5 लाइनें lovebet वास्तव में भुगतान करता है,fun88 खेल,lovebet 35 एमबी,lovebet ग्रेहाउंड परिणाम,lovebet स्पोर्ट वॉच मेड इन चाइना प्राइस,lovebetक्स,बैकारेट 9 पीस नाइफ ब्लॉक सेट id3,बैकारेट संग्रहालय,बेस्ट फाइव यूराष्ट्रपतियों,बोन्स केरी,दिल्ली में कैसीनो,शतरंज ६ चाल चेकमेट,क्रिकेट या ट्विटर,क्रिकेट वीडियो स्थिति,एस्पोर्ट्स टीम,फ़ुटबॉल खाता अभी,फ्री बेटिंग पोर्टल,खुश किसान,बैकारेट को कैसे दबाएं,क्या कोई नकली ऑनलाइन जुआ है?,ख क्रिकेट चमगादड़,लाइव कैसीनो स्पोर्ट्स बार,लॉटरी कैसे खेलें,लूडो सुप्रीम डाउनलोड,ऑनलाइन बैकरेट परीक्षण,ऑनलाइन गेम बनाना,ऑनलाइन स्लॉट्स आई ऑफ होरस,प्वाइंट रम्मी गेम,बाहों के नीचे पोकर,गोवा कैसीनो में रूले,रम्मी 8 खिलाड़ी,रम्मीकल्चर से पैसे कैसे कमाए,स्लॉट 99,स्पोर्ट्स लाइव स्कोर,चाय फुटबॉल खिलाड़ी पीते हैं,पूरे नेटवर्क पर सबसे तेज लॉटरी,वीडियो बैकारेट लास वेगास,बैकारेट के कौन से तरीके,cricket निबंध मराठी,औकात स्टेटस इन हिंदी,क्रिकेट धोनी,चेस चैंपियन इन हिंदी,दस स्कोर एक्सप्रेस 3,बरसात ट्विंकल खन्ना की,रमी खेलने का,स्टेटस जो हिला दे, .एफपीआई ने अक्टूबर में अबतक भारतीय बाजारों से 3,825 करोड़ रुपये निकाले

http://img95.699pic.com/photo/40037/1647.jpg_wh300.jpg?67016

एफपीआई ने अक्टूबर में अबतक भारतीय बाजारों से 3,825 करोड़ रुपये निकाले

नयी दिल्ली, 24 अक्टूबर (भाषा) विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक (एफपीआई) अक्टूबर में अबतक भारतीय बाजारों में शुद्ध बिकवाल बने हुए हैं।

उन्होंने अक्टूबर में भारतीय बाजारों से 3,825 करोड़ रुपये की निकासी की है।

इससे पिछले दो माह में एफपीआई ने ऋण या बांड बाजार में जबर्दस्त निवेश किया था। उन्होंने सितंबर में बांड बाजार में 13,363 करोड़ रुपये और अगस्त में 14,376.2 करोड़ रुपये डाले थे।

डिपॉजिटरी के आंकड़ों के अनुसार, अक्टूबर में एफपीआई ने अभी तक बांड बाजार से 1,494 करोड़ रुपये निकाले हैं। इसी तरह उन्होंने शेयरों से 2,331 करोड़ रुपये की निकासी की है। इस तरह एक से 22 अक्टूबर के दौरान उन्होंने भारतीय बाजारों से शुद्ध रूप से 3,825 करोड़ रुपये निकाले हैं।

जियोजीत फाइनेंशियल सर्विसेज के मुख्य निवेश रणनीतिकार वी के विजयकुमार ने कहा, ‘‘अक्टूबर के पहले पखवाड़े में एफपीआई ने सॉफ्टवेयर कंपनियों के 5,406 करोड़ रुपये के शेयर बेचे हैं। हालांकि, सॉफ्टवेयर कंपनियों के दूसरी तिमाही के नतीजे अच्छे रहे हैं। ऐसे में यह निश्चित रूप से मुनाफावसूली का मामला है। वित्तीय सेवा कंपनियों में एफपीआई ने लिवाली की है।’’

मॉर्निंगस्टार इंडिया के एसोसिएट निदेशक (प्रबंधक शोध) हिमांशु श्रीवास्तव ने कहा, ‘‘एफपीआई बाजार में किनारे पर खड़े हैं तथा वे 'देखो और इंतजार करो" की नीति अपना रहे हैं। इस दौरान वे मुनाफा काट रहे हैं।’’

(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)
(This story has not been edited by economictimes.com and is auto–generated from a syndicated feed we subscribe to.)

ETPrime stories of the day

Lilly withered in India’s blooming diabetes market. Key deficiency: an India-specific sales pitch.
Pharma

Lilly withered in India’s blooming diabetes market. Key deficiency: an India-specific sales pitch.

9 mins read
Havildar Tom Cruise? A case diary of Indian cops’ craze for artificial intelligence in policing
Artificial intelligence

Havildar Tom Cruise? A case diary of Indian cops’ craze for artificial intelligence in policing

11 mins read
How Srei lenders hid potential related-party transactions by routing them through public trusts
Under the lens

How Srei lenders hid potential related-party transactions by routing them through public trusts

10 mins read
एफपीआई ने अक्टूबर में अबतक भारतीय बाजारों से 3,825 करोड़ रुपये निकाले

नयी दिल्ली, 24 अक्टूबर (भाषा) देश के शीर्ष 10 शहरों में ज्यादातर परिवार (करीब 60 प्रतिशत) त्योहारी सीजन में खर्च कर रहे हैं, लेकिन पेट्रोल और डीजल तथा अन्य आवश्यक वस्तुओं की कीमतों में बढ़ोतरी की वजह से वे अपने बजट या मूल्य को लेकर सचेत हैं। रविवार को जारी एक सर्वेक्षण से यह पता चला है। ऑनलाइन मंच लोकलसर्किल्स ने अपने 'मूड ऑफ द कंज्यूमर' राष्ट्रीय सर्वेक्षण में शीर्ष 10 शहरों में 61,000 से अधिक परिवारों को शामिल करते हुए दावा किया है कि उपभोक्ता भावना में भारी सुधार हुआ है। सर्वेक्षण के अनुसार, त्योहारी सीजन 2021 के दौरान खर्चनयी दिल्ली, 24 अक्टूबर (भाषा) सरकार भारत बांड ईटीएफ की अगली किस्त दिसंबर तक ला सकती है। वित्त मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी। अधिकारी ने बताया कि सरकार भारत बांड ईटीएफ से दिसंबर तक 10,000 करोड़ रुपये जुटा सकती है। इस राशि का इस्तेमाल केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रमों (सीपीएसई) की वृद्धि की योजना में किया जाएगा। अधिकारी ने कहा कि केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रमों की कोष की जरूरत का आकलन किया जा रहा है और एक्सचेंज ट्रेडेड कोष (ईटीएफ) की तीसरी किस्त को चालू कैलेंडर वर्ष के अंत से पहले पेश किया जाएगा। उन्होंनेकंपनियों के तिमाही नतीजे तय करेंगे बाजार की दिशा : विश्लेषक

नयी दिल्ली, 24 अक्टूबर (भाषा) मुकेश अंबानी के स्वामित्व वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज लि. (आरआईएल) ने अपने हरित ऊर्जा कारोबार को आकार देने के लिए सौर, बैटरी और हाइड्रोजन क्षेत्र में निवेश की खातिर कई भागीदारियां की हैं। इनका अगले पांच साल में कंपनी के पूर्व-कर लाभ में लगभग 10 प्रतिशत का योगदान रह सकता है। एक रिपोर्ट में यह आकलन किया गया है। गौरतलब है कि कंपनी ने आरईसी, नेक्सवेफ, स्टर्लिंग एंड विल्सन, स्टिसाल और अंबरी के साथ 1.2 अरब डॉलर की कुल लागत वाली साझेदारियों की घोषणा की है। ब्रोकरेज कंपनी बर्नस्टीन ने एक रिपोर्ट में कहा है, "इननयी दिल्ली, 24 अक्टूबर (भाषा) देश के शीर्ष 10 शहरों में ज्यादातर परिवार (करीब 60 प्रतिशत) त्योहारी सीजन में खर्च कर रहे हैं, लेकिन पेट्रोल और डीजल तथा अन्य आवश्यक वस्तुओं की कीमतों में बढ़ोतरी की वजह से वे अपने बजट या मूल्य को लेकर सचेत हैं। रविवार को जारी एक सर्वेक्षण से यह पता चला है। ऑनलाइन मंच लोकलसर्किल्स ने अपने 'मूड ऑफ द कंज्यूमर' राष्ट्रीय सर्वेक्षण में शीर्ष 10 शहरों में 61,000 से अधिक परिवारों को शामिल करते हुए दावा किया है कि उपभोक्ता भावना में भारी सुधार हुआ है। सर्वेक्षण के अनुसार, त्योहारी सीजन 2021 के दौरान खर्चचीन-पाक आर्थिक गलियारे को नुकसान पहुंचा रहा है अमेरिका: पाक अधिकारी

डिजिटल इकनॉमी में नए टैलेंट की जरूरत होगी. आइए, यहां टॉप रिक्रूटमेंट फर्मों से उन स्किल्‍स के बारे में जानते हैं जो सबसे ज्‍यादा डिमांड में हैं.नयी दिल्ली, 24 अक्टूबर (भाषा) मुकेश अंबानी के स्वामित्व वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज लि. (आरआईएल) ने अपने हरित ऊर्जा कारोबार को आकार देने के लिए सौर, बैटरी और हाइड्रोजन क्षेत्र में निवेश की खातिर कई भागीदारियां की हैं। इनका अगले पांच साल में कंपनी के पूर्व-कर लाभ में लगभग 10 प्रतिशत का योगदान रह सकता है। एक रिपोर्ट में यह आकलन किया गया है। गौरतलब है कि कंपनी ने आरईसी, नेक्सवेफ, स्टर्लिंग एंड विल्सन, स्टिसाल और अंबरी के साथ 1.2 अरब डॉलर की कुल लागत वाली साझेदारियों की घोषणा की है। ब्रोकरेज कंपनी बर्नस्टीन ने एक रिपोर्ट में कहा है, "इनसैलरी और पर्क्‍स के पेमेंट के लिए कंपनियों ने शुरू किया क्रिप्‍टोकरेंसी का इस्‍तेमाल

स्रोत: Nanfang Daily Online    Editor in charge: hit


क्रिकेट जुड़नार
यूईएफए चैंपियंस लीग फुटबॉल के दिग्गज सुपरस्टार
शीर्ष 10 विश्व प्रारंभिक
ऑनलाइन कैसीनो यूरोपा
रूले नियम हिंदी में
क्षण स्टेटस
भारत में betway कार्यालय
बैकारेट इत्र की कीमत
प्रतिष्ठित बोर्ड गेम
lovebet 9998
गोवा इन हिंदी
यूरोपीय कप फुटबॉल खेल वीडियो
स्टेटस की परिभाषा हिंदी में
दुनिया में शीर्ष 10 गेमिंग कंपनियां
स्लॉट्स वाई सस टिपोस
लॉटरी धनबाद
स्पोर्ट्स ई न्यूज
एक लवबेट एजेंट बनें
आओ आओ गीत
खेल पेय
fun88 बोला लाइव
नवीनतम जुआ खेल मशीन की कीमतें
क्रिकेट अकादमी शुल्क
यूईएफए चैंपियंस लीग
lovebet टी एंड सीएस
क्लासिक रम्मी शिकायतें
जेड लॉटरी