188bet एक्सओ सो

188bet एक्सओ सो

time:2021-10-25 03:08:46 कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर में दिहाड़ी मजदूरी बढ़ी, यह है वजह Views:4591

ऑनलाइन जुआ खेल मंच मछली पकड़ना 188bet एक्सओ सो 10cric ऐप पुराना संस्करण,betway यूके,लियोवेगैस इंडिया,lovebet एपीआई,lovebet लॉगिन ऑनलाइन,lovebet बनाम शिखर,बैकारेट के लिए एक अच्छा मंच,बैकारेट क्रैकिंग इंस्ट्रूमेंट,बैकरेट शॉर्ट-सर्किट प्ले,सट्टेबाजी सट्टेबाज,कैसीनो 247,कैसीनो रोयाले गोवा,चोंगकिंग लकी फार्म,क्रिकेट घी,डीएच फुटबॉल जूते,यूरोपीय कप कार्यक्रम के परिणाम,फ़ुटबॉल इंस्टेंट गोइंग ऑड्स,उत्पत्ति कैसीनो एंड्रॉइड ऐप,एचडी फुटबॉल लाइव एपीके,आईपीएल सभी टीम,जैकपॉट kl,लाइव ब्लैकजैक क्रिप्टो,लाइव रूले ऑनलाइन यूएसए,लॉटरी द मास,एमआरसीपी बेस्ट ऑफ फाइव क्वेश्चन,ऑनलाइन कैसीनो या गोल्डन सिटी,ऑनलाइन पोकर android,पी पोकर क्रॉसवर्ड,पोकर दा इल्हा,बैकरेट जोड़े की प्रायिकता,शाही सड़क,रम्मी ओ kmart,स्लॉट मशीन एल्गोरिथ्म हैक,स्लॉट्स पर आप असली पैसा जीत सकते हैं,स्पोर्ट्सबुक एजी,टेक्सास होल्डम कार्ड रैंकिंग,स्लॉट खेल,फ़ुटबॉल ऑनलाइन गेम क्या हैं,विश्व फुटबॉल वेबसाइट,इलेक्ट्रॉनिक खेल bihar,कैसीनो के खेल hdf,गुआंग्डोंग 11 चयनित 5,जोकर मोबाइल,फुटबॉल ट्रेनिंग,बेटा ज्ञान,लॉटरी इनाम,स्पोर्ट्स टीवी .कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर में दिहाड़ी मजदूरी बढ़ी, यह है वजह

कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर में न्‍यूनतम मजदूरी में 15-20 फीसदी का इजाफा हुआ है.
मुंबई : पिछले कुछ महीनों में कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर में काम करने वाले वर्कर्स की न्‍यूनतम दिहाड़ी मजदूरी बढ़ी है. ये रियल एस्‍टेट, इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर, सीमेंट, स्‍टील, सड़क एवं हाईवे और शहरी विकास परियोजनाओं में काम करते हैं. मजदूरी में बढ़ोतरी की वजह लेबरों की कमी है. कंपनियों ने अपने पुराने प्रोजेक्‍टों को पूरा करने के लिए काम की रफ्तार बढ़ाई है.

कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर में न्‍यूनतम मजदूरी में 15-20 फीसदी का इजाफा हुआ है. इस सेक्‍टर में करीब 5 करोड़ लोग काम करते हैं. मानव संसाधन प्रबंधन फर्म बेटरप्‍लेस के अनुमान के अनुसार, महामारी से पहले की तुलना में मजदूरी 450-500 रुपये से बढ़कर 550-600 रुपये प्रति दिन हो गई है. वहीं, मजदूरों की उपलब्‍धता 70-75 फीसदी घटी है.

इसे भी पढ़ें : कोरोना के दौर में सैलरी बढ़ाने के लिए कैसे करें बातचीत?

मजदूरों को सबसे ज्‍यादा रोजगार कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर में मिलता है. यह सेक्‍टर काफी कुछ असंगठित है. ज्‍यादातर वर्कर्स दिहाड़ी मजदूरी पर काम करते हैं. बेटरप्‍लेस के सीओओ सौरभ टंडन ने कहा कि लेबर की किल्‍लत के चलते कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर में मजदूरी बढ़ी है. कंपन‍ियां तेजी से अपनी लंबित परियोजनाओं को पूरा करना चाहती हैं.

टॉप एग्‍जीक्‍यूटिव्‍ज के अनुसार, कुशल कामगारों की भारी किल्‍लत है. कारण है कि महामारी के बाद बड़ी संख्‍या में मजदूर अपने-अपने घरों से वापस नहीं लौटे हैं. रियल एस्‍टेट डेवलपर हीरानंदानी ग्रुप के एमडी निरंजन हीरानंदानी ने कहा कि हम बाहर से कुशल कारीगरों को लाने की कोशिश कर रहे हैं. ये ज्‍यादा मजदूरी की मांग करते हैं. इससे कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर में औसत मजदूरी बढ़ी है. कुशल श्रमिकों की कमी सिर्फ रियल एस्‍टेट की समस्‍या नहीं है, बल्कि यह दिक्‍कत हर सेक्‍टर की है. बहुत कम लोगों के पास काम की कुशलता होती है.

इसे भी पढ़ें : सिर्फ 10% कर्मचारी ऑफिस लौटे : रिपोर्ट

इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर प्रोजेक्‍टों के बिल्‍डर केईसी इंटरनेशनल के सीईओ विमल केजरीवाल ने कहा कि फिटर और कारपेंटर जैसे कुशल कामगारों की मजदूरी 10-20 फीसदी बढ़ गई है. काम ज्‍यादा है. लंबित परियोजनाओं को पूरा करने का दबाव है. सभी साइटों पर पूरी क्षमता के साथ काम हो रहा है.

इंडस्‍ट्री के जानकार कहते हैं कि मध्‍यम और छोटे संस्‍थान जिनमें लॉकडाउन की शुरुआत में वर्कर्स को रोक पाने की क्षमता नहीं थी, उन्‍हें लेबरों को मंगाने में ज्‍यादा खर्च करना पड़ रहा है. कंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टर की बड़ी कंपनियों ने खाने-पीने और रहने की व्‍यवस्‍था उपलब्‍ध कराकर अपने वर्कर्स को बनाए रखा.

हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

द‍िहाड़ी मजदूरीमजदूरी में इजाफान्‍यूनतम द‍िहाड़ीकंस्‍ट्रक्‍शन सेक्‍टरलेबरों की किल्‍लत

ETPrime stories of the day

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.
Modern retail

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.

2 mins read
Why Rivigo, which hired from all sectors, is zeroing in on seasoned logistics hands for its revival
Recent hit

Why Rivigo, which hired from all sectors, is zeroing in on seasoned logistics hands for its revival

11 mins read
Realty boom, capex cycle, Unitech’s fall: what pro-cyclical investors can learn from the past
Investing

Realty boom, capex cycle, Unitech’s fall: what pro-cyclical investors can learn from the past

14 mins read

डिजिटल इकनॉमी में नए टैलेंट की जरूरत होगी. आइए, यहां टॉप रिक्रूटमेंट फर्मों से उन स्किल्‍स के बारे में जानते हैं जो सबसे ज्‍यादा डिमांड में हैं.भारत में सरकार विपक्षी दलों और आलोचकों को परेशान करने के लिए नियमों का दुरुपयोग करती हैं। ट्रोलिंग, गालियां देना और सोशल मीडिया पर रेप या मारने की धमकी देना अब आम चलन हो गया है।इस साल 7.7% होगा औसत इंक्रीमेंट, जानिए किस सेक्‍टर में सबसे ज्‍यादा बढ़ेगी सैलरी

नयी दिल्ली, 24 अक्टूबर (भाषा) घरेलू कोयले की आपूर्ति में बिजली क्षेत्र को प्राथमिकता देने से हिंदुस्तान जिंक पर 'कुछ हद तक' असर पड़ा है। वेदांता समूह के एक शीर्ष अधिकारी यह बात कही। उन्होंने कहा, हालांकि कंपनी ने मार्च तक के लिए कोयले के आयात का अनुबंध कर फिलहाल इस समस्या का हल निकाल लिया है। घरेलू कोयला उत्पादन में 80 प्रतिशत का हिस्सा रखने वाली कोल इंडिया लि. ताप बिजली संयंत्रों में कोयले की कमी को देखते हुए उन्हें अस्थायी रूप से आपूर्ति में प्राथमिकता दे रही है। हिंदुस्तान जिंक लिमिटेड के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) अरुणअगले साल मई तक आईटी, आईटीईएस और बीपीओ सेक्‍टर में कर्मचारियों के ऑफिस वापसी का लेवल कोरोना से पहले के स्‍तर के 50 फीसदी तक पहुंच सकता है.कोरोना के दौर में सैलरी बढ़ाने के लिए कैसे करें बातचीत?

नयी दिल्ली, 24 अक्टूबर (भाषा) राष्ट्रीय कंपनी विधि अपीलीय न्यायाधिकरण (एनसीएलएटी) ने राष्ट्रीय कंपनी विधि न्यायाधिकरण (एनसीएलटी) को वीडियोकॉन टेलीकम्युनिकेशंस के दो पूर्व अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई के मामले पर "नये सिरे से ध्यान देने" और उन्हें सुनवाई का मौका देने के बाद नया आदेश जारी करने का निर्देश दिया है। इन दोनों पूर्व अधिकारियों की संपत्तियां और बैंक खातों पर रोक लगी हुई है। एनसीएलएटी ने एनसीएलटी की मुंबई पीठ को "निष्पक्ष, न्यायसंगत, संयमशील तरीके से गुण के आधार पर, नए सिरे से" जल्द ही जरूरी नया आदेश जारी करने का निर्देश देते कहा कि उसने (एनसीएलटी) "नैसर्गिक न्याय केनयी दिल्ली, 24 अक्टूबर (भाषा) घरेलू कोयले की आपूर्ति में बिजली क्षेत्र को प्राथमिकता देने से हिंदुस्तान जिंक पर 'कुछ हद तक' असर पड़ा है। वेदांता समूह के एक शीर्ष अधिकारी यह बात कही। उन्होंने कहा, हालांकि कंपनी ने मार्च तक के लिए कोयले के आयात का अनुबंध कर फिलहाल इस समस्या का हल निकाल लिया है। घरेलू कोयला उत्पादन में 80 प्रतिशत का हिस्सा रखने वाली कोल इंडिया लि. ताप बिजली संयंत्रों में कोयले की कमी को देखते हुए उन्हें अस्थायी रूप से आपूर्ति में प्राथमिकता दे रही है। हिंदुस्तान जिंक लिमिटेड के मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) अरुणकंपनियों के तिमाही नतीजे तय करेंगे बाजार की दिशा : विश्लेषक

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
रम्मीकल्चर xyz

नयी दिल्ली, 24 अक्टूबर (भाषा) भारत में अपने उत्पादों की श्रृंखला को मजबूत करते हुए अपोलो टायर्स लिमिटेड ने देश में यूरोपीय टायर ब्रांड व्रेडेस्टीन उतारा है। कंपनी का यह उत्पाद महंगी कारों तथा सुपरबाइक खंड की जरूरतों को पूरा करेगा। घरेलू टायर कंपनी की अगले दो साल में इस खंड में 30 प्रतिशत बाजार हिस्सेदारी हासिल करने की योजना है। व्रेडेस्टील श्रृंखला का उत्पादन स्थानीय स्तर पर शुरुआत में कंपनी के तमिलनाडु और आंध्र प्रदेश संयंत्रों में किया जाएगा। कंपनी शुरुआत में इस ब्रांड की बिक्री ‘रिप्लेसमेंट’ बाजार में करेगी। बाद में कंपनी

डेक बैकरेट जूते

नयी दिल्ली, 24 अक्टूबर (भाषा) सरकार भारत बांड ईटीएफ की अगली किस्त दिसंबर तक ला सकती है। वित्त मंत्रालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने यह जानकारी दी। अधिकारी ने बताया कि सरकार भारत बांड ईटीएफ से दिसंबर तक 10,000 करोड़ रुपये जुटा सकती है। इस राशि का इस्तेमाल केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रमों (सीपीएसई) की वृद्धि की योजना में किया जाएगा। अधिकारी ने कहा कि केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उपक्रमों की कोष की जरूरत का आकलन किया जा रहा है और एक्सचेंज ट्रेडेड कोष (ईटीएफ) की तीसरी किस्त को चालू कैलेंडर वर्ष के अंत से पहले पेश किया जाएगा। उन्होंने

रम्मीकल्चर नया संस्करण

कोरोना की महामारी के चलते कई लोगों की नौकरी छूट गई है. कई लोगों की सैलरी घट गई है. कइयों के रोजगार ठप हो गए हैं. नौकरियों के मौकों में बड़ी कमी आई है. नई जॉब के विकल्‍प बेहद सीमित हैं. ऐसे में यह समय अपने कम्‍फर्ट जोन से निकलकर घर में कमाई के रास्‍ते खोजने का है. इसकी शुरुआत आप खुद से यह पूछ कर सकते हैं कि आप क्‍या कर सकते हैं? कैसे कर सकते हैं? कहां कर सकते हैं? कितना कमा सकते हैं? हम आपको घर बैठे कमाई के कुछ विकल्प बता रहे हैं.

एचबी क्रिकेट कैंप

महामारी से पहले की तुलना में मजदूरी 450-500 रुपये से बढ़कर 550-600 रुपये प्रति दिन हो गई है. वहीं, मजदूरों की उपलब्‍धता 70-75 फीसदी घटी है.

डीडी स्पोर्ट्स

डिजिटल इकनॉमी में नए टैलेंट की जरूरत होगी. आइए, यहां टॉप रिक्रूटमेंट फर्मों से उन स्किल्‍स के बारे में जानते हैं जो सबसे ज्‍यादा डिमांड में हैं.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी
टेक्सास होल्डम इल्माइसपेली

कोलकाता, 24 अक्टूबर (भाषा) पैनासोनिक इंडिया को त्योहारी सीजन के दौरान मांग अच्छी रहने की उम्मीद है। कंपनी के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि कोविड-19 संक्रमण अब नियंत्रण में है, ऐसे में त्योहारों के दौरान मांग मजबूत रहेगी। इसके अलावा कंपनी उत्पादन आधारित प्रोत्साहन (पीएलआई) योजना के तहत कम्प्रेसर और हीट एक्सचेंजरों के विनिर्माण के लिए 300 करोड़ रुपये का निवेश करने की तैयारी कर रही है। पैनासोनिक इंडिया के चेयरमैन एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) मनीष शर्मा ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘जून-सितंबर की तिमाही में हमने पिछले साल की समान अवधि की तुलना में 18 प्रतिशत की वृद्धि

क्रिकेट ट्रे बनाम सुपर

कोलकाता, 24 अक्टूबर (भाषा) पैनासोनिक इंडिया को त्योहारी सीजन के दौरान मांग अच्छी रहने की उम्मीद है। कंपनी के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा कि कोविड-19 संक्रमण अब नियंत्रण में है, ऐसे में त्योहारों के दौरान मांग मजबूत रहेगी। इसके अलावा कंपनी उत्पादन आधारित प्रोत्साहन (पीएलआई) योजना के तहत कम्प्रेसर और हीट एक्सचेंजरों के विनिर्माण के लिए 300 करोड़ रुपये का निवेश करने की तैयारी कर रही है। पैनासोनिक इंडिया के चेयरमैन एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) मनीष शर्मा ने पीटीआई-भाषा से कहा, ‘‘जून-सितंबर की तिमाही में हमने पिछले साल की समान अवधि की तुलना में 18 प्रतिशत की वृद्धि

फुटबॉल वेब गेम Daquan

नयी दिल्ली, 24 अक्टूबर (भाषा) दोपहिया क्षेत्र की प्रमुख कंपनी होंडा मोटरसाइकिल एंड स्कूटर इंडिया (एचएमएसआई) अगले वित्त वर्ष में अपना पहला इलेक्ट्रिक वाहन (ईवी) उतारने की तैयारी कर रही है। एचएमएसआई के अध्यक्ष, प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) आत्सुशी ओगाता ने पीटीआई-भाषा से बातचीत में यह जानकारी दी। कंपनी देश में एक्टिवा और शाइन जैसे लोकप्रिय ब्रांड बेचती है। इस साल त्योहारी सीजन समाप्त होने के बाद कंपनी अपने डीलर भागीदारों से इलेक्ट्रिक स्कूटर की व्यवहार्यता के बारे में चर्चा शुरू करेगी। उन्होंने कहा कि एचएमएसआई ने अपनी मूल कंपनी जापान की होंडा मोटर कंपनी