कैसीनो पैसा कमाते हैं

कैसीनो पैसा कमाते हैं

time:2021-10-25 02:58:30 रोजगार के हालात में आ रहा सुधार, ईपीएफओ के आंकड़ों से मिले संकेत Views:4591

के शतरंज लेखक कैसीनो पैसा कमाते हैं 188bet एपीके डाउनलोड,casumo कोटियूटस,लीवगैस निकासी समीक्षा,lovebet जमा करने के तरीके,lovebet विकल्प और अर्थ,lovebet.com पंजीकरण,एयू क्रिकेट स्कोर,बैकरेट गेम स्टैंड-अलोन गेम डाउनलोड,बैकारेट जीतने की रणनीति,सट्टेबाजी की भविष्यवाणी,कैसीनो दा पोवोआ,कैसीनो एक्सबॉक्स गेम्स,कॉम फुटबॉल टीम,क्रिकेट समाचार हिंदी,ई-स्पोर्ट्स एसोसिएशन,प्रसिद्ध सट्टेबाजी,फुटबॉल सिफारिश साइट,जेनेसिसकैसीनो क्षेत्र,फ़ुटबॉल बाधाओं की गणना कैसे करें,आईपीएल शेड्यूल 2021,जैकपॉटक्सो,लाइव कैसीनो बोनस,लॉटरी 6 रुपये,लूडो एपीके मोड,नेटेंट जैकपॉट गेम्स,ऑनलाइन मनोरंजन बोनस पाने के लिए खाता खोलें,असली पैसे के लिए ऑनलाइन पोकर खेलें,परिमच मूवी ऐप,पोकर किट,रील स्लॉट लोगो,72 . का नियम,रम्मी जैदीमास,स्लॉट मशीन पेआउट शेड्यूल,स्पोर्ट्स औ बाकू,चार्ल्सटन मेनू की स्पोर्ट्सबुक,टेक्सास होल्डम प्रश्न,ट्रांसपोर्टस्टीलसेन,सट्टेबाज की सट्टेबाजी की मात्रा कहाँ है?,याकूब 5 बैकारेटो,ऑनलाइन गेम jio phone,क्रिकेट live स्कोर,गोवा ढोल,तीन पत्ती एप,बकरा गीत,बेताब दिल शायरी,लॉटरी संभव, .रोजगार के हालात में आ रहा सुधार, ईपीएफओ के आंकड़ों से मिले संकेत

आंकड़ों से पता चलता है कि अप्रैल में भारी गिरावट के बाद फॉर्मल एम्‍प्‍लॉयमेंट (संगठित रोजगार) के हालात सामान्‍य हो रहे हैं.
नई दिल्‍ली : देशभर में लॉकडाउन के चलते लाखों लोगों की नौकरियां चली गई थीं. अब स्थिति सुधरती दिख रही है. आंकड़ों से पता चलता है कि अप्रैल में भारी गिरावट के बाद फॉर्मल एम्‍प्‍लॉयमेंट (संगठित रोजगार) के हालात सामान्‍य हो रहे हैं. इसके शुरुआती संकेत मिलने लगे हैं. जिन लोगों ने कर्मचारी भविष्‍य निधि (ईपीएफ) स्‍कीम को छोड़ा था, वे वापस इससे जुड़ रहे हैं. इस साल जून में ऐसे मेंबर्स की संख्‍या अब तक सबसे ज्‍यादा रही है. वहीं, स्‍कीम छोड़ने वालों की संख्‍या में भी तेज गिरावट आई है.

जून में कर्मचारी राज्‍य बीमा स्‍कीम (ईएसआईसी) से जुड़ने वाले मेंबर्स की संख्‍या में भी तेज इजाफा हुआ है. आधिकारिक आंकड़ों से इसका पता चलता है. पेरोल के आंकड़े दिखाते हैं कि जून में स्‍कीम से 4.54 लाख मेंबर्स ईपीएफओ से निकले और दोबारा से जुड़ गए. मई में यह आंकड़ा 3.14 लाख और अप्रैल में 2.51 लाख रहा था. पिछले वित्‍त वर्ष में यह औसत 6.5 लाख रहा है.

इसे भी पढ़ें : इस साल हर दस में से सिर्फ 4 कंपनी ने दिया इंक्रीमेंट : सर्वे

स्‍कीम से निकलने वालों की संख्‍या में भी गिरावट आई है. जून में यह 2.99 लाख रही है. इसकी तुलना में मई में यह 4.45 लाख और अप्रैल में 4.08 लाख रही थी. ये आंकड़े देश में संगठित क्षेत्र में रोजगार की स्थिति को बयान करते हैं.

जून में ईपीएफओ से कुल 6.55 लाख नए सब्‍सक्राइबर जुड़े. अप्रैल में यह संख्‍या महज 20 हजार और मई में 1.72 लाख रही थी. केंद्रीय सांख्यिकी और कार्यक्रम कियान्‍वयन मंत्रालय के आंकड़ों से इसका पता चलता है. वित्‍त वर्ष 2019-20 में औसतन हर महीने 10 लाख नए सब्‍सक्राइबर स्‍कीम से जुड़े. वहीं, जून 2019 में कुल 12 लाख लोग स्‍कीम से जुड़े थे.

इसे भी पढ़ें : इन 8 वेबसाइट से आप कर सकते हैं ऑनलाइन कोर्स, करियर संवारने में मिलेगी मदद

25 मार्च से देश में तीन हफ्तों के लिए देशभर में लॉकडाउन कर दिया गया था. इसे बाद में कुछ रियायतों के साथ बढ़ाया जाता रहा. एक मई से सरकार ने अनलॉक की प्रक्रिया शुरू की. इसके तहत चरणबद्ध तरीके से बंदिशों को हटाया जा रहा है.

आंकड़ों के अनुसार, जून में ईएसआईसी से जुड़ने वालों की संख्‍या 7.92 लाख रही. में यह 4.76 लाख, जबकि अप्रैल में 2.58 लाख थी. वैसे, नए लोगों के जुड़ने का आंकड़ा कोरोना से पहले के स्‍तर से अब भी कम है. 2019-20 में स्‍कीम से हर महीने जुड़ने वालों का औसत आंकड़ा 12 लाख से ज्‍यादा था.

हिंदी में पर्सनल फाइनेंस और शेयर बाजार के नियमित अपडेट्स के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज. इस पेज को लाइक करने के लिए यहां क्लिक करें.

टॉपिक

रोजगार के हालातईपीएफओईएसआईसीकर्मचारी राज्‍य बीमा स्‍कीमकर्मचारी भविष्‍य न‍िधि संगठन

ETPrime stories of the day

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.
Modern retail

PrimeTalk invite | Blurring the lines of retail.

2 mins read
Why Rivigo, which hired from all sectors, is zeroing in on seasoned logistics hands for its revival
Recent hit

Why Rivigo, which hired from all sectors, is zeroing in on seasoned logistics hands for its revival

11 mins read
Realty boom, capex cycle, Unitech’s fall: what pro-cyclical investors can learn from the past
Investing

Realty boom, capex cycle, Unitech’s fall: what pro-cyclical investors can learn from the past

14 mins read

पहले चरण में 31,277 को जिलों का आवंटन हो गया है. इसमें से 15,933 टीचर सामान्‍य कैटेगरी के हैं. 8,513 अन्‍य पिछड़ा वर्ग, 6,615 अनुसूचित जाति और 215 अनुसूचित जनजाति के हैं.अच्‍छे ब्रांड से दो साल का एमबीए मार्केट की बदली हुई स्थितियों में काफी फायदेमंद साबित हो सकता है. एमबीए की डिग्री आपको विश्‍वसनीयता हासिल करने में मदद करती है. फिर चाहे आपने किसी भी सेक्‍टर में काम किया हो.पेटीएम बिजनेस के विस्तार के लिए 1,000 लोगों की भर्ती करेगी

पहले चरण में 31,277 को जिलों का आवंटन हो गया है. इसमें से 15,933 टीचर सामान्‍य कैटेगरी के हैं. 8,513 अन्‍य पिछड़ा वर्ग, 6,615 अनुसूचित जाति और 215 अनुसूचित जनजाति के हैं.क्‍या आप 2021 में कार खरीदने की योजना बना रहे हैं? अगर हां तो कारदेखो डॉट कॉम के साथ हम यहां आपको कुछ शानदार विकल्‍पों के बारे में बता रहे हैं. कार के ये मॉडल इस साल लॉन्‍च हो सकते हैं. हमने यहां 7-15 लाख रुपये की कैटेगरी में सबसे अच्‍छी कारों को चुना है.इंफोसिस के कर्मचारियों के लिए खुशखबरी, नए साल से बढ़ेगा वेतन

कई लोग छु‍ट्टी मनाने के लिए अब बाहर निकलने लगे हैं. यह अलग बात है कि कोविड-19 का डर अब भी बना हुआ है. ऐसे में सुरक्षा की अनदेखी करना सही नहीं है. यहां हम ऐसे कुछ गैजेट्स और एक्‍सेसरीज के बारे में बता रहे हैं जो आपकी ट्रिप को सुरक्षित बनाने में मदद करेंगे.पेटीएम के सीएचआरओ रोहित ठाकुर ने ईटी को बताया कि पिछले तीन से चार महीनों में कंपनी ने करीब 700 लोगों की भर्ती की है. इन्‍हें ऑनलाइन रिक्रूट किया गया है.एक्सिस बैंक ने कर्मचारियों का वेतन 12% तक बढ़ाया

पूरा पाठ विस्तारित करें
संबंधित लेख
lovebet हैक

क्‍या इस वैलेंटाइन डे पर अपने पाटर्नर को खुश करने के लिए आपने गिफ्ट सेलेक्‍ट कर लिया है? नहीं, तो यहां हम आपको ट्रेडिशनल गिफ्ट से अलग हटकर कुछ ऐसे तोहफों के बारे में बता रहे हैं जो शायद आपके साथी को खूब पसंद आए.

lovebet रोलैंड गैरोस

कई ग्राहक मोरेटोरियम और उससे पड़ने वाले असर को नहीं समझते हैं. इसे देखते हुए कलेक्‍शन में बाधा आई है.

मेरे क्रिकेट टिकट बुक करो

महिंद्रा एंड महिंद्रा ने शुक्रवार को संकेत दिए कि कमोडिटी के कीमतों में आई तेजी के चलते आने वाले कुछ महीनों में वह अपने वाहनों की कीमत बढ़ा सकती है.

कैसीनो में लाइव रूले

जून में गिरावट के बाद पिछले दो महीनों में एक्टिव जॉब ओपनिंग्‍स में 74 फीसदी की बढ़त दर्ज की गई है. कंपनियों को कोविड की महामारी खत्‍म होने के बाद प्रतिस्‍पर्धा बढ़ने की उम्‍मीद है. वे इसके लिए खुद को तैयार रखना चाहती हैं.

स्लॉट आदिएच बैकप्लेन

रेलवे बोर्ड के चेयरमैन वीके यादव ने बताया कि कोविड-19 महामारी के कारण अब तक परीक्षा आयोजित नहीं कराई जा सकी थी.

संबंधित जानकारी
गरम जानकारी